विकास दुबे के साथी शशिकांत पांडे का कबूलनामा, ‘CO की हत्या हुई हमारे आंगन में ही ‘

Lifestyle Media World

लखनऊ: पूरे देश को हिलाकर रख देने वाले कानपुर एनकाउंटर (Kanpur Encounter) में विकास दुबे के साथी शशिकांत पांडे ने कई बड़े खुलासे किए हैं. 50,000 के इनामी बदमाश शशिकांत पांडे को Police ने कल गिरफ्तार किया था. शशिकांत ने अपने कबूलनामे में बताया कि Vikas Dubey के हुक्म पर Police पर गोलियां बरसाई गईं. शशिकांत ने पुलिस को बताया कि Vikas Dubey ने पुलिसबल पर जबर्दस्ती गोली चलवाई.

Read More: 2,000 रुपयों के लिए युवक भूल गया दोस्ती, कर दी दोस्त की हत्या!

शशिकांत ने अपने कबूलनामे में बताया, “विकास ने कहा था कि गोली नहीं चलाओगे तो मार डालूंगा. Vikas Dubey ने हर हाल में पुलिसवालों को मारने का आदेश दिया था. Vikas Dubey समेत करीब 10 लोगों ने Police वालों पर फायरिंग की थी. पुलिसबल पर हमले के लिए विकास दुबे ने सबको Phone करके बुलाया था.” 

Read More: प्रेमी के घर के बाहर धरने पर बैठी प्रेमिका, वजह जान आप भी रह जाएंगे दंग,जानिए पूरी कहानी!

शशिकांत ने आगे बताया, “हमले के लिए Vikas Dubey ने ही हथियारों का इंतजाम किया था. पुलिसवालों के आने की सूचना हमें पहले से थी. Police पर छत से फायरिंग हुई. विकास दुबे ने Phone कर बुलाया और कहा कि आज गोली चलेगी. विकास दुबे ने राइफल और बंदूक पहले से इकट्ठा कर रखे थे. मेरे आंगन में CO देवेंद्र मिश्र की हत्या हुई. मेरे घर के दरवाजे पर दो दारोगा की हत्या की गई. दारोगा मदद मांग रहे थे, लेकिन हमने दरवाजा नहीं खोला. अगर हम दरवाजा खोलते तो Vikas Dubey हमें मार डालता.” 

Read More: BJP में शामिल होने के सवाल पर सचिन पायलट ने ये जवाब दिया!

शशिकांत: सर, उस दिन गोली चली थी. गोली जबर्दस्ती केवल Vikas Dubey के जरिये चलवाई गई थी. उसमें अमर दुबे, प्रभात मिश्रा, Vikas Dubey, बउआ और अतुल दुबे और मेरे पापा शामिल थे, जो Police मुठभेड़ में मारे गए. हम लोगों पर दबाव बनाकर कहा गया कि अगर तुम लोग गोली नहीं चलाओगे **^^&&## तो  तुम्हें मार डालेंगे.  

Report: किन-किन लोगों ने गोली चलाई थी, ये बताओ. 
शशिकांत: सर, बहुत थे.

Report: कौन-कौन थे?
शशिकांत: लालू थे, शिवम था, हम थे और पीहू, अखिलेश मिश्रा थे, राजेंद्र थे, प्रभात था और अमर था और विकास…  

Report: घटनाक्रम कैसे शुरू हुआ? गोली चलाने की स्थिति क्यों आ गई? क्या सूचना आ गई थी कि पुलिस आ रही है? कैसे मालूम था कि पुलिस आ गई है? 

शशिकांत: पुलिस द्वारा सूचना दी गई थी. 

Report: क्या सूचना आई थी. 
शशिकांत: Police द्वारा सूचना ये आई थी कि इनको मारना है. पुलिसवालों को. 

Report: तुम्हारे आंगन में कितने लोगों की हत्या हुई थी ?
शशिकांत:
 हमारे आंगन में तीन लोगों की हत्या हुई. 

Report: कौन-कौन?
शशिकांत: आंगन में CO साहब और बाहर दरवाजे पर दो दारोगा. 

Report-  जब दारोगा जी वहां मदद मांग रहे थे, तुम लोगों ने गेट क्यों नहीं खोला? 
शशिकांत:
 सर, हम लोगों ने गेट इसलिए नहीं खोला क्योंकि अगर गेट खोलते तो (विकास) हमें मार डालता. 

Report: तुम लोग छत से गोली चला रहे थे?
शशिकांत:
 जी

Report: तुम और तुम्हारे पिताजी छत से गोली चला रहे थे?
शशिकांत:
 नहीं 

Report: असलहे कहां से आए थे?
शशिकांत:
 असलहे सब विकास दुबे ने दिलाए थे. 

Report- कौन-कौन से असलहे थे?
शशिकांत:
 बंदूक, राइफल सभी थी. 

Report: घटना शुरू कैसे हुई, ये बताओ. सूचना आई. विकास दुबे ने तुम लोगों को बुलाया. क्या कहकर बुलाया?
शशिकांत:
 फोन करके बुलाया था. 

Report- क्या बोला?
शशिकांत: बोला कि आज गोली चलनी है. बस इतना कहा. और कुछ नहीं कहा था. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *