खुशखबरी: इस Indian Company ने बना ली Covid-19 की Medicine, Government ने दी मंजूरी पूरी खबर पढ़ें!

Lifestyle Media World

Medicine Company (दवा कंपनी) ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने Covid -19 से मामूली रूप से पीड़ित Patients के इलाज के लिए एंटीवायरल दवा फेविपिराविर को Fabiflu Brand (फैबिफ्लू ब्रांड) नाम से पेश किया है. इसकी कीमत 103 INR प्रति टैबलेट होगी. ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने Saturday को यह जानकारी देते हुए कहा कि यह दवा 200 MG के टैबलेट में उपलब्ध होगी. इसके 34 Tablet के पत्ते की कीमत 3,500 INR होगी.

कंपनी ने कहा कि फैबिफ्लू Covid-19 के इलाज के लिए फेविपिराविर दवा है, जिसे मंजूरी मिली है. यह दवा चिकित्सक की सलाह पर 103 INR प्रति टैबलेट के दाम पर मिलेगी. पहले दिन इसकी 1800 Mg की दो खुराक लेनी होगी. उसके बाद 14 Day तक 800 एमजी की दो खुराक लेनी होगी.

Read More: Only 4,999 रुपये की EMI पर मिल रही TATA की ये सबसे सस्ती कार, सेफ्टी में है Best पूरा पढ़ें!

इस दवा की विनिर्माण क्षमता के बारे में पूछे जाने पर Company ने कहा कि प्रति मरीज न्यूनतम 2 पत्ते की जरूरत के हिसाब से पहले महीने में ही वह 82,500 मरीजों के लिए फैबिफ्लू उपलब्ध करा पाएगी. ‘‘हमारी स्थिति पर निगाह है और स्थिति के अनुसार Company Country के स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र के हिसाब से उत्पादन बढ़ाएगी.

Company इस दवा के लिए एक्टिव फार्मास्युटिकल इन्ग्रिडिएंट (API) का उत्पादन अपने अंकलेश्वर संयंत्र में कर रही है. फार्मूलेशन का उत्पादन हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के बद्दी संयंत्र में किया जा रहा है. यह दवा Hospitals के अलावा खुदरा चैनलों के जरिये भी उपलब्ध होगी.

Read More: Begusarai (बेगुसराय) : वरमाला के बाद अटकी Marriage, बिना Bride (दुल्हन) के लौटे Groom राजा, जानें क्या है मामला पूरी खबर पढ़ें!

यह पूछे जाने पर कि क्या Company इस दवा की आपूर्ति के लिए Hospitals के साथ गठजोड़ पर भी विचार कर रही है, ग्लेनमार्क फार्मा ने कहा कि अभी हमारी प्राथमिकता Fabiflu का विनिर्माण है जिससे इसे Patients तक पहुंचाया जा सके. ग्लेनमार्क निश्चित रूप से निजी और सरकारी स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र को समर्थन पर विचार करेगी. Timeऔर जरूरत के हिसाब से वह अन्य उचित विकल्पों पर भी विचार करेगी.

Govt से मिली अनुमति
Mumbai की कंपनी ने शुक्रवार को कहा था कि उसे भारतीय औषधि महानियंत्रक (DGCI) से इस दवा के विनिर्माण और विपणन की अनुमति मिल गई है. ग्लेनमार्क फार्मास्युटिल्स के Chairman एवं प्रबंध निदेशक ग्लेन सल्दान्हा ने कहा, ‘‘यह मंजूरी ऐसे समय मिली है जबकि India में Corona Virus के मामले पहले की तुलना में अधिक तेजी से बढ़ रहे हैं. इससे हमारी स्वास्थ्य सेवा प्रणाली काफी दबाव में है.’’

उन्होंने उम्मीद जताई कि Fabiflu जैसे प्रभावी इलाज की उपलब्धता से इस दबाव को काफी हद तक कम करने में मदद मिलेगी.

Read More: Ileana D’Cruz की इन तस्वीरों ने लगाई Internet पर आग, Share करते ही वायरल हुईं Hot Pics पूरी खबर पढ़ें!

सल्दान्हा ने कहा कि क्लिनिकल परीक्षणों में Fabiflu ने Corona Virus के हल्के संक्रमण से पीड़ित Patients पर काफी अच्छे नतीजे दिखाए. उन्होंने कहा कि इसके अलावा यह खाने वाली दवा है जो treatment का एक सुविधाजनक विकल्प है. उन्होंने कहा कि Company सरकार और चिकित्सा समुदाय के साथ मिलकर काम करेगी ताकि देशभर में Patients को यह दवा आसानी से उपलब्ध हो सके.

Company ने कहा कि उसकी आंतरिक शोध एवं विकास टीम ने सफलतापूर्वक इसका Active फार्मास्युटिकल इन्ग्रिडिएंट (API) और फार्मूलेशन विकसित किया है.

ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स के अध्यक्ष Indian फार्मूलेशंस, पश्चिम एशिया (West asia)और अफ्रीका सुजेश वासुदेवन ने Online संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘हमने फेविपिराविर पर इसलिए काम करने का फैसला किया क्योकि इसे सार्स सीओवी2 Virus पर प्रभावी पाया गया है. यह वायरस ही Covid-19 महामारी की वजह है.

Read More: Husband संग Hospital से भागी Corona Positive महिला, और Mobile फोन किया बंद, Address भी गलत निकला पढ़ें पूरी कहानी !

ग्लेनमार्क फार्मा ने कहा कि मामूली संक्रमण वाले ऐसे मरीज जो मधुमेह या heart की बीमारी से पीड़ित हैं, उन्हें भी यह Medicine दी जा सकती है. सल्दान्हा ने कहा कि यह खाने की दवाई है. ऐसे में जब Hospitals के ढांचे पर दबाव हो, तो यह काफी लाभकारी साबित हो सकती है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में शनिवार को Corona-virus के एक दिन में रिकॉर्ड 15,516 मामले सामने आए. अब देश में इस महामारी से संक्रमित लोगों की संख्या 4,26,048 हो गई है. यह महामारी अब तक 13,748 लोगों की जान ले चुकी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *